‘‘इंवेस्टिगेशन मीडिया’’ के प्रोमो से बौखलाई पूनम छाबड़ा

आनन-फानन में जारी किया शराबबंदी आंदोलन का प्रेस नोट

‘‘इंवेस्टिगेशन मीडिया’’ के प्रोमो से बौखलाई पूनम छाबड़ा

जयपुर (जितेन्द्र शर्मा)। राजस्थान में संपूर्ण शराबबंदी की मुहिम चलाने वाली ‘‘जस्टिस फॉर छाबड़ा’’ संगठन की राष्ट्रीय अध्यक्ष पूनम अंकुर छाबड़ा ‘‘इंवेस्टिगेशन मीडिया’’ की ओर से जारी प्रोमो से बौखला गई है।

इसके लिए पूनम छाबड़ा की ओर से आनन-फानन में सोश्यल मीडिया पर एक प्रेस नोट जारी कर गत् 25 दिनों से धावास रोड़ पर जारी शराबबंदी आंदोलन के तहत एक शराब की दुकान को बंद करवाने के लिए विरोध रैली के आयोजन का हवाला दिया गया है।

हम आपको बता दें कि इस पूनम छाबड़ा की ओर से जारी इस प्रेस नोट में विरोध रैली को कवरेज करने का मीडिया को समय आज रविवार 20 अगस्त शाम 4 बजे दिया गया है जबकि ‘‘इंवेस्टिगेशन मीडिया’’ की ओर से जारी प्रोमो आखिर क्या है पूनम छाबड़ा के शराबबंदी आंदोलन की हकीकत ? में खबर दिखाने का समय आज रविवार 20 अगस्त शाम 5 बजे दिया गया जा चुका है।
अब इससे इनकार नहीं किया जा सकता है कि पूनम छाबड़ा ‘‘इंवेस्टिगेशन मीडिया’’ की आज रविवार को प्रकाशित होने वाली खबर को दबाने का भरसक प्रयास कर रही है। लेकिन ‘‘इंवेस्टिगेशन मीडिया’’ पूनम छाबड़ा को साफ तौर पर यह बता देता है कि पूनम छाबड़ा की इन दकियानूसी हरकतों से ‘‘इंवेस्टिगेशन मीडिया’’ दबने वाला नहीं है।
देश की जनता को शराबबंदी आंदोलन की आड़ में गुमराह करने वाली आंदोलनकारी पूनम छाबड़ा अभी प्रसव काल में है और उन्होंने हाल ही गत् 3 दिन पहले ही एक निजी अस्पताल में बच्ची को जन्म दिया है। अब ऐसे में सबसे बड़ा सवाल यह उठता है कि जब एक महिला ने जब बच्ची को जन्म दिया है तो वह कैसे गत् 25 दिनों से शराबबंदी आंदोलन कर सकती है ?
‘‘इंवेस्टिगेशन मीडिया’’ के प्रोमो से बौखलाई पूनम छाबड़ा

सवाल जो पूनम के प्रेस नोट से उठ रहे हैं :

 1. ‘‘इंवेस्टिगेशन मीडिया’’ पूनम छाबड़ा के शराबबंदी आंदोलन की सच्चाई देश की जनता के सामने रखने वाला है तो फिर आज रविवार सुबह की क्यों प्रेस नोट जारी किया गया है ?
2. अब जब पूनम छाबड़ा के निर्देश पर यह सब इतनी जल्दी हो रहा है तो फिर, पूनम छाबड़ा की गिरफ्तारी के बाद से सब कुछ एकदम ठंडे बस्ते में क्यों चला गया था ?
3. जब पिछले 25 दिनों से पूनम छाबड़ा का शराबबंदी आंदोलन चल रहा है तो किसी भी मीडिया के माध्यम से इसकी सूचना जनता को क्यों दी नहीं गई, जबकि ‘‘इंवेस्टिगेशन मीडिया’’ के प्रोमो की घोषणा के बाद ही क्यों प्रेस नोट जारी किया है? उधर, तुरंत आनन-फानन में मीडिया को भी सोची समझी साजिश के तहत 4 बजे का समय कवरेज के लिए दिया गया है।
4. जब पूनम छाबड़ा का शराबबंदी आंदोलन धरना 25 दिनों से जनता के बीच या जनता द्वारा चल रहा है तो इसकी कोई सूचना पहले सामने क्यों नहीं आई ?

5. जब पूनम छाबड़ा प्रसव काल में है और उन्होंने हाल ही बेटी को जन्म दिया है तो यह धरना किसके दिशा-निर्देश पर आयोजित किया जा रहा है और पूनम छाबड़ा के दिशा-निर्देश पर चल रहा है तो भी इसकी सूचना मीडिया के माध्यम से जनता को क्यों नहीं दी गई ?
6. सबसे बड़ा सवाल यह है कि क्या वास्तव में पूनम छाबड़ा को इस आंदोलन और इस प्रेस नोट की जानकारी है और अगर जानकारी नहीं है तो फिर आखिर कौन हैं वो शख्स जिन्होंने पूनम छाबड़ा के नाम से गैर जिम्मेदाराना और गुमराहपूर्ण प्रेस नोट जारी किया है और आज रविवार 20 अगस्त को सुबह ही क्यों जारी किया है ?
7. अगर 25 दिनों से धरना-प्रदर्शन चल रहा है तो मीडिया में कोई कवरेज क्यों नहीं करवाई गई ? और नागरिकों में अचानक से यह जोश किस वजह से उत्पन्न हुआ ? कहीं यह किसी डर या घबराहट की वजस से उठाया हुआ कदम तो नहीं ?
यह सब सोची समझी साजिश के तहत सिर्फ ‘‘इंवेस्टिगेशन मीडिया’’ पर आज रविवार शाम 5 बजे प्रकाशित होने वाली खबर को दबाने का केवलमात्र प्रयास है। सरकार को इस मामले की तुरंत प्रभाव से जांच करवानी चाहिए।
‘‘इंवेस्टिगेशन मीडिया’’ के प्रोमो से बौखलाई पूनम छाबड़ा

क्या लिखा है पूनम के प्रेस नोट में :

श्रीमान संम्पादक महोदय,
      सादर नमस्कार ।
            ◆ प्रेस नॉट ◆
धावास रोड़ शराब ठेके के विरोध में धरना जारी,20 अगस्त को विशाल विरोध रैली – पूनम अंकुर छाबडा
जयपुर। पुरे प्रदेश में अब भी कई स्थानो पर शराब ठेकों की लॉकेशन को लेकर आम जन विरोध में खड़ा है और संपूर्ण शराब बंदी आन्दोलन जस्टिस फॉर छाबड़ा जी की राष्ट्रीय अध्यक्ष पूनम अंकुर छाबडा इन सब समस्याओं को लगातार आबकारी विभाग के समक्ष पुरजोर रूप से उठा रही है ।
जयपुर के जगदम्बा नगर में धावास रोड़ पर भी आबादी इलाक़े में आवंटित शराब शॉप के विरोध में लगातार 25 दिनों से आम जन शराब ठेके के विरोध में धरने पर है और बार बार आबकारी विभाग को सुचना देने के बावजूद निराकरण नहीं होने से आम जन में रोष भी है और अब यहा के नागरिकों ने पूनम अंकुर छाबडा के निर्देश पर 20 अगस्त शाम 4 बंजे विशाल विरोध रैली निकलने का आव्हान किया है , 20 अगस्त को शराब ठेके के विरोध में रैली निकाली जाएगी और आबकारी विभाग को ज्ञापन दिया जायेगा ।
             ◆ ◆ ◆
          पूनम अंकुर छाबडा 
              राष्ट्रीय अध्यक्ष
जस्टिस फॉर छाबडा जी ®
      M- 9958980151
◆ सादर प्रकाशनार्थ , एवं कवरेज़ करने हेतु प्रतिनिधि को भेजने का सादर आग्रह 
◆ 20 अगस्त 2017 ,शाम 4 बंजे – धावास रोड़ ,जगदम्बा नगर , जयपुर

‘‘इंवेस्टिगेशन मीडिया’’ के प्रोमो से बौखलाई पूनम छाबड़ा

 

यह है मामला : 

गौरतलब है ‘‘इंवेस्टिगेशन मीडिया’’ की ओर से  अगस्त को एक प्रोमो जारी किया गया था जिसमें आज रविवार 20 अगस्त शाम 5 बजे आखिर क्या है पूनम छाबड़ा के शराबबंदी आंदोलन की हकीकत ? नाम शीर्षक से खबर प्रकाशित की जानी है। जिसका मैसेज सोश्यल मीडिया पर भी वायरल हो चुका है।

इससे बौखलाकर पूनम छाबड़ा ने ‘‘इंवेस्टिगेशन मीडिया’’ पर प्रकाशित होने वाली खबर को दबाने के लिए यह हथकंडा अपनाया है।

बहरहाल, पूनम छाबड़ा अपना काम करती रहे और ‘‘इंवेस्टिगेशन मीडिया’’ अपना काम करता रहेगा।

देखने वाली बात यह है कि महिला आंदोलनकारी जिस प्रकार से अपने शराबबंदी आंदोलन को लेकर नए-नए रास्ते अपना रही है उनसे क्या वाकई देश की जनता में अपना विश्वास जमा पाएगी या फिर इस प्रकार की हरकतों से जनता उसे दरकिनार कर देगी। यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा।

सभी अपडेट के लिए हमें Facebook और Twitter पर फ़ॉलो करें 
 

सभी अपडेट के लिए हमें Facebook और Twitter पर फ़ॉलो करें

राष्ट्र निर्माण में सहयोग के लिए करें. (9887769112)
हमारी स्वतंत्र पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करे



Leave a Comment