भागवत सुनने से मन को मिलती है शांति- आचार्य रमेश शर्मा

हिण्डौन सिटी। वर्धमान नगर के गायत्री मैरिज गार्डन में तीसरे दिन रविवार को श्रीमद् भागवत कथा के दौरान पंडित रमेश चंद्र आचार्य पाँचोली वाले ने सुखदेव महाराज व राजा परीक्षित केेे प्रसंग का वर्णन किया। परीक्षित जब बड़े हुए भरा पूरा परिवार था। सुख वैभव से समृद्ध राज्य था। वे जब 60 वर्ष के थे एक दिन वे ऋषि से मिलने उनके आश्रम गए। उन्होंने उन्हें आवाज लगाई लेकिन तप में लीन होने के कारण मुनि ने प्रति उत्तर नहीं दिया। राजा परीक्षित स्वयं का अपमान मानकर निकट मृत पड़े…

Read More