6 पशु उप स्वास्थ्य केन्द्र क्रमोन्नत व 13 नए पशु चिकित्सालय स्वीकृत

जयपुर। केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण राज्यमंत्री व जयपुर ग्रामीण के सांसद कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौड़ के प्रयास से राज्य सरकार ने जयपुर जिले के 6 पशु उपस्वास्थ्य केन्द्रों को क्रमोन्नत कर पशु चिकित्सालय बनाया है। साथ ही 13 नए पशु चिकित्सालय खोलने की स्वीकृति दी है। इससे जयपुर ग्रामीण क्षेत्र के पशुपालकों को स्थानीय स्तर पर ही बेहतर सुविधाएं मुहैया हो सकेंगी।

कर्नल राठौड़ के “सांसद आपके द्वार” कार्यक्रम में लंबे अरसे से जयपुर ग्रामीण क्षेत्र के पशुपालक अपने पशुधन को मौसमी बीमारियों से बचाने एवं संक्रमण से सुरक्षा को लेकर काफी चिन्तित नजर आ रहे थे, उनकी शिकायत थी कि उन्हें कई किलोमीटर का सफर तय कर अपने बीमार पशुओं का ईलाज करवाना पड़ रहा है, इसमें उन्हें समय व आर्थिक कठिनाईयों का भी सामना करना पड़ रहा है।

सांसद कर्नल राठौड़ ने क्षेत्र की इस समस्या को देखते हुए राज्य के पशुपालन एवं कृषि मंत्री प्रभुलाल सैनी से वार्ता की और उन्हें क्षेत्रीय पशुपालकों की समस्याओं से अवगत करवाते हुए समाधान का आग्रह किया।

कर्नल राठौड़ ने बताया कि राज्य सरकार ने पशुपालकों की इस समस्या को प्रमुखता से लेते हुए 6 पशु उपस्वास्थ्य केन्द्रों को क्रमोन्नत करने के साथ 13 नए पशु चिकित्सालय खोलने की स्वीकृति दी है। इससे पशुपालकों को अब अपने नजदीक ही बीमार पशुओं का ईलाज मिलने के साथ समय व धन की भी बचत हो सकेगी।

पशु उप स्वास्थ्य केन्द्र से उच्चीकृत पशु चिकित्सालय : नवलपुरा (शाहपुरा), धानक्या (झोटवाड़ा), भादवा (फुलेरा), मानपुरा माचेड़ी, चन्दवाजी (आमेर) और टोड़ामीणा (जमवारामगढ़)।

नए पशु चिकित्सालय : सुराणा, लेटकाबास (शाहपुरा), लाड़ाकाबास, भांकरी (विराटनगर), बनार, ढ़ाढ़ा सुन्दरपुरा (कोटपूतली), देवसन (बानसूर), कंवरपुरा, दौलतपुरा, खोराश्यामदास, अनोपपुरा (आमेर), धौला (जमवारामगढ़) और श्रीरामपुरा (फुलेरा)।

सभी अपडेट के लिए हमें Facebook और Twitter पर फ़ॉलो करें

सभी अपडेट के लिए हमें Facebook और Twitter पर फ़ॉलो करें

राष्ट्र निर्माण में सहयोग के लिए करें. (9887769112)
हमारी स्वतंत्र पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करे



Leave a Comment