चार रुपए के फेर में फंसा “बिग बाजार”, उपभोक्ता अदालत ने किया नोटिस जारी


जयपुर। बिग बाजार की ओर से उपभोक्ता से एमआरपी से चार रुपए अधिक राशि वसूल करने के मामले में राजधानी की उपभोक्ता अदालत ने बिग बाजार को नोटिस जारी किया है। शहर की उपभोक्ता न्यायालय (चतुर्थ) जयपुर ने अमन वर्मा बनाम बिग बाजार (फ्यूचर रिटेल लि.) प्रकरण में बिग बाजार के निदेशक/प्रबंधक को नोटिस जारी किया है।


राजधानी के बनीपार्क इलाके में पानीपेच के नेहरू नगर स्थित राजेन्द्र मार्ग निवासी परिवादी अमन वर्मा के अधिवक्ता शिव भगवान ने बताया कि परिवादी अमन वर्मा ने शहर के स्वेज फार्म स्थित बिग बाजार से कुछ सामान खरीदा था। साथ ही वर्मा ने सनफीस्ट कंपनी के दो नूडल्स के पैकेट भी खरीदे। उनकी एमआरपी 10 रुपये प्रति पैकेट अंकित थी।

इस पर बिग बाजार के कर्मचारी ने परिवादी अमन से दो नूडल्स के दोनों पैकेट्स की खरीद 24 रुपए वसूल किए। जबकि, एमआरपी के हिसाब से बिग बाजार को 20 रुपए ही लेने चाहिए थे। लेकिन, कर्मचारी ने एमआरपी से चार रुपए अधिक वसूल कर लिए।


इस पर परिवादी अमन वर्मा ने बिग बाजार द्वारा सेवादोष एवं अनफेयर ट्रेड प्रैक्टिस का कृत्य करने के कारण उपभोक्ता न्यायालय जयपुर(चतुर्थ) में परिवाद दर्ज कराया। इस पर न्यायालय द्वारा बिग बाजार को नोटिस जारी किया गया है। प्रकरण की अगली सुनवाई आगामी 20 मार्च को होगी।

सभी अपडेट के लिए हमें Facebook और Twitter पर फ़ॉलो करें

राष्ट्र निर्माण में सहयोग के लिए करें. (9887769112)
हमारी स्वतंत्र पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करे



Leave a Comment