उत्पात की आग में जला होटल व्यवसाय

उत्पात की आग में जला होटल व्यवसाय

जयपुर (जितेन्द्र शर्मा)। एक ओर जहां पूरे देश में फिल्म “पद्मावत” को लेकर विवाद भड़का हुआ है वहीं, दूसरी ओर देश मे आर्थिक नुकसान भी कम नहीं हो रहा है। जी हां मैं बात कर रहा हूं होटल व्यवसाय की और खास तौर पर राजस्थान की। यह कहना है राजधानी की होटल श्याम पैराडाइस के जनरल मैनेजर दीपेंद्र लुनिवाल का।

दीपेंद्र लुनीवाल ने इंवेस्टिगेशन मीडिया को बताया कि राजस्थान पर्यटन के लिहाज से नवंबर से लेकर फरवरी तक अच्छा माना जाता है। इस दौरान यहां पर पर्यटकों की तादाद काफी संख्या में होती है। इससे यहां पर हर व्यवसाय को गति मिलती है। लेकिन, कुछ वर्षों से राजस्थान को मानो नजर सी लग गई है।

लुनीवाल के मुताबिक यदि आज हम बात करें तो पूरे देश में सबसे ज्यादा आंदोलनों के लिए मशहूर हो गया है हमारा राजस्थान। मौजूदा सरकार को इस पर ध्यान देना होगा एवं आम नागरिक को भी इस पर चिंतन करना चाहिए।

इंवेस्टिगेशन मीडिया से बातचीत में दीपेंद्र लुनीवाल ने बताया कि मैं होटल व्यवसाय की बात करुं तो 26 जनवरी से 28 जनवरी तक की सभी एडवांस बुकिंगें रद्द हो गई है। 3 दिन के अवकाश के कारण राजधानी के सभी होटलों में पहले 100 फीसदी बुकिंग हो चुकी थीं। लेकिन, फिल्म “पद्मावत” के विरोध की वजह से सभी पर्यटकों ने अपनी एडवांस बुकिंग रद्द कर दी हैं।

इसका एक ही मुख्य कारण है वो है राजस्थान में आंदोलनो की लगी आग। लोगों में भय है कि कहीं हम जयपुर घूमने जाएं और कहीं किसी आंदोलन का शिकार ना बन बैठें। ये एक बहुत ही विचारणीय लायक विषय है जिस पर हम सभी को ध्यान देना होगा।

सभी अपडेट के लिए हमें Facebook और Twitter पर फ़ॉलो करें

राष्ट्र निर्माण में सहयोग के लिए करें. (9887769112)
हमारी स्वतंत्र पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करे



Leave a Comment