(ऑॅपरेशन अंबालिका): मॉडलिंग के नाम पर युवाओं के कैरियर से हो रहा खिलवाड़

जयपुर की “शक्ति फिल्म प्रोडक्शंस” की तहकीकात

जयपुर (रोहित कुमार/रेणु शर्मा/जितेन्द्र शर्मा)। राजधानी जयपुर में इन दिनों दिल्ली, मुंबई जैसे महानगरों की तर्ज पर मॉडलिंग ऐजेंसी बनाकर मॉडलिंग और एक्टिंग जगत में नाम व पैसा कमाने के इच्छुक युवक-युवतियों से सुनहरा कैरियर बनाने के वायदे कर मोटी रकम ऐंठी जा रही है और बेचारे युवा रंगीन दुनिया में चमकने के चक्कर में लुट रहे हैं।

हम बात कर रहे हैं राजधानी जयपुर में मानसरोवर की पत्रकार कॉलोनी स्थित “शक्ति फिल्म प्रोडक्शंस” की। जो कि ऐसा ही कुचक्र रचकर फिल्म प्रोडक्शंस व मॉडलिंग ऐजेंसी की आड़ में जयपुर, दिल्ली, मुंबई, आगरा, सूरत, सहित कई शहरों के युवक-युवतियों को फिल्मों व मॉडलिंग की दुनिया के हसीन सपने दिखाकर पैसे ऐंठकर उनके कैरियर से जमकर खिलवाड़ कर रहा है। जब इस मामले के सामने आने पर इंवेस्टिगेशन मीडिया की टीम ने पड़ताल की तो कई रोचक तथ्य सामने आए जिन्हें देखकर हम भी हतप्रभ रह गए।

खुद को बताती है ‘नेशनल लेवल की इवेंट ऑर्गनाइजर’:

इंवेस्टिगेशन मीडिया की पड़ताल में सामने आया कि “शक्ति फिल्म प्रोडक्शंस” की डॉयरेक्टर अंबालिका राजभाटिया ने मॉडल्स को गुमराह करने के लिए फिल्म प्रोडक्शंस जैसे प्रोफेशन का सहारा लिया। वह किसी भी विषय पर मनमर्जी से शो बना लेती है और उसके बाद आती है मॉडलों के शोषण की बारी। सबसे पहले डॉयरेक्टर अंबालिका राजभाटिया व उसकी टीम के सदस्य स्वरचित फैशन शो का आकर्षक पोस्टर-बैनर बनवाकर सोशल मीडिया पर जमकर प्रसारित करते हैं।

इतना ही नहीं अंबालिका राजभाटिया खुद को ‘नेशनल लेवल का इवेंट ऑर्गनाइजर, बॉलीवुड फिल्मों की डॉयरेक्टर और प्रोड्यूसर’ बताती है। जबकि, असल में उसने ना ही मॉडलिंग और एक्टिंग की कोई प्रोफेसनल डिग्री हासिल की है और ना ही वह किसी मॉडलिंग और एक्टिंग ऐजेंसी के लिए जयपुर में काम करती है।

बिना परमिशन ही सहयोगी बना दिया “बेटी फाउंडेशन” को :

 

आगामी 16 अप्रैल हो होने जा रहे फैशन शो ‘ग्लैमरस फेस ऑफ़ राजस्थान सीजन-2’ के बैनर की जब हमारी टीम ने पड़ताल की तो वहां सहयोगी के रूप में “बेटी फाउंडेशन” नामक एनजीओ को अपना सहयोगी बना दिया और “बेटी फाउंडेशन” के नाम पर युवाओं से शो को सहयोग देने की अपील अंबालिका राजभाटिया की ओर से की गई। इस पर इंवेस्टिगेशन मीडिया के संवाददाता ने “बेटी फाउंडेशन” के डॉयरेक्टर राज शर्मा से बातचीत की तो सनसनीखेज तथ्य सामने आए।

बातचीत में राज शर्मा ने साफ तौर पर हमारे “संवाददाता” को कहा कि “हम कोई शो नहीं करवा रहे हैं, हमने कोई ऑफिशियली एनाउंसमेंट नहीं किया है। वो मैं अंबालिका राजभाटिया से बात करूंगा, मैंने तो बोला ही नहीं कि आप मेरा लोगो यूज करो। हमारा कोई लेना देना नहीं है इसमें। ना हम शो में जा रहे हैं, ना ही हमने उस शो के लिए बोला है, ना ही हमने उस शो के बारे में कोई इंफोरमेशन डाली है और ना ही डालेंगे।”

यहां सुनिये, “बेटी फाउंडेशन” के डायरेक्टर राज शर्मा से हुई बातचीत की ऑडियो टेप 

मीडिया में छपी ख़बरें दिखाकर बॉलीवुड फिल्मों में काम का दिलाती है भरोसा:

सोशल मीडिया में अपना प्रचार करने के बाद कई युवक-युवतियां अंबालिका राजभाटिया के जाल में फंस ही जाते हैं। अंबालिका राजभाटिया सोशल मीडिया में इन आकर्षक विज्ञापनों में अपना मोबाइल नंबर, पता देकर युवाओं को मॉडलिंग में कैरियर बनाने और पैसे कमाने के सब्जबाग दिखाती है। फिर, उनको अपने फैशन शो में लांच करने के नाम पर हजारों रुपए तक रजिस्ट्रेशन चार्ज के रूप में वसूलती है।

मॉडल बनने के इच्छुक युवक-युवतियों को फैशन शो के बाद मॉडलिंग इंडस्ट्री और बॉलीवुड फिल्मों में काम करने का पूरा भरोसा दिलाया जाता है। जबकि, अंबालिका ने अब तक राजधानी जयपुर में अनेकों फैशन शो के माध्यम से जिन मॉडल्स को पैसे लेकर लांच किया था वे आज भी इस क्षेत्र में काम के लिए दर-दर की ठोकरें खा रहे हैं।  इंवेस्टिगेशन मीडिया की पड़ताल में सामने आया है कि फैशन शो से पहले ही इन मॉडल्स से पैसे जमा करवा लिए जाते हैं और एक शो में 40 से 50 युवक-युवतियों से मॉडलिंग में लांच करने के नाम पर हजारों रुपए ऐंठ लिए जाते हैं।

खुद ही कर लेती है सक्सेसफुल घोषित:

यहां रोचक बात यह है कि इन युवाओं से एकत्रित पैसों में से महज कुछ रुपए खर्च कर बाकि पैसा समेट शक्ति फिल्म प्रोडक्शंस की डॉयरेक्टर अंबालिका राजभाटिया शो को सक्सेसफुल भी घोषित कर देती है। सोशल मीडिया पर आकर्षक भाषा और डिजाइनिंग के माध्यम से खुद का महिमामंडन कर देती है और फैशन शो के नाम ठगे बेचारे युवा खुद को लुटा महसूस करते हैं और डांट खाने के भय से अपने परिजनों को भी इसकी जानकारी नहीं देते। शो के बाद भी इन युवाओं को इनकी खुद की फोटो लेने के लिए भी अंबालिका राजभाटिया को अतिरिक्त पैसे चुकाने पड़ते हैं।

…और खुद ही बन जाती है स्वयंभू जज:

पिछले करीब दो वर्षों में इस चालाक फिल्म डॉयरेक्टर ने दर्जनों फैशन शो राजधानी जयपुर में आयोजित किए। उनमें खुद ही फैशन शो की स्वयंभू जज बनकर मनमर्जी से मॉडल्स को विजेता बना देती है। जबकि, बचे हुए मॉडल्स को अगली बार भी फैशन शो करने की कहकर उन्हें टरका देती है। शक्ति फिल्म प्रोडक्शंस की डॉयरेक्टर अंबालिका राजभाटिया हर बार बिना किसी रजिस्ट्रेशन के मनमर्जी के नामों से फैशन शो बनाकर सैकड्रों युवाओं से जमकर रुपए ऐंठ चुकी है।

राजनेताओं के फोटो का करती है इस्तेमाल:

जयपुर महापौर अशोक लाहोटी के साथ अंबालिका राजभाटिया

इंवेस्टिगेशन मीडिया की पड़ताल में सामने आया है कि शक्ति फिल्म प्रोडक्शंस की डॉयरेक्टर अंबालिका राजभाटिया अपने को एक बहुत बड़ी फिल्म प्रोड्यूसर साबित करने के लिए बड़े राजनेताओं के पास जाकर उनके साथ फोटो खिंचवाकर उन फोटो को अपनी सोशल मीडिया पर अपनी प्रोफाइल पर जमकर शेयर करती है। इसके पीछे उसका मकसद अपने शो में लुभाने के लिए युवा मॉडल्स के दिलो दिमाग में खुद की प्रोफाइल को हाई बताना भर है। इससे भोले-भाले युवा मॉडल्स इसके बनाए हुए जाल में आसानी से फंस सकें।

राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष सुमन शर्मा के साथ फोटो खिंचवाते हुए अंबालिका राजभाटिया

 

आगामी शो है 16 अप्रैल को:

 

 

हम आपको बता दें कि शक्ति फिल्म प्रोडक्शंस की यह डॉयरेक्टर और फिल्म प्रोड्यूसर अंबालिका राजभाटिया आगामी 16 अप्रैल को भी राजधानी में गोपालपुरा बाइपास स्थित होटल सफारी में एक फैशन शो ‘ग्लैमरस फेस ऑफ़ राजस्थान सीजन-2’ आयोजित करने जा रही है। इसका भी सोशल मीडिया पर जमकर प्रचार किया जा रहा है और युवा मॉडल्स को प्रभावित करने के इरादे से नित नई-नई प्रोफाइल का सहारा लिया जा रहा है।

बहरहाल,  इंवेस्टिगेशन मीडिया ने अपनी जिम्मेदारी को समझते हुए अंबालिका राजभाटिया के इस पूरे खेल का पर्दाफाश किया है जिससे युवाओं को सही मार्गदर्शन मिल सके और वे अपने साथ मॉडलिंग व फिल्मों में काम दिलाने के नाम पर होने वाली कारगुजारी से बच सकें। वहीं, इन उभरते युवाओं को अपने साथ हुई किसी भी प्रकार की जालसाझी की घटना पुलिस प्रशासन को अवश्य देनी चाहिए ताकि ऐसी फिल्म प्रोडक्शंस कंपनियों पर कानून का शिकंजा कसा जा सके।

हम आपको यह भी बता दें कि इंवेस्टिगेशन मीडिया का उद्देश्य उभरते मॉडल्स और कलाकारों को ऐसी फिल्म प्रोडक्शंस कंपनियों द्वारा होने वाले आर्थिक व मानसिक नुकसान से बचाने का है किसी भी व्यक्ति या संस्था की भावनाओं को आहत करने का नहीं है।

सभी अपडेट के लिए हमें Facebook और Twitter पर फ़ॉलो करें

राष्ट्र निर्माण में सहयोग के लिए करें. (9887769112)
हमारी स्वतंत्र पत्रकारिता को सरकार और कॉरपोरेट दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करे



Leave a Comment